बगहा में मसान नदी ने मचाई तबाही, गांवों में घुसा पानी, आवागमन ठप

बंगाल के रास्ते आये यास चक्रवात तूफान(Yaas Cyclone) पूरे बिहार में उथल-पुथल मचा दिया है. जिससे पूरे बिहार में जलमग्न की स्तिथि हो गई है. लगातार रात-दिन की बारिश ने पूरे बिहार के साथ-साथ कई जिलों में भी कहर ढाया है. बगहा(Bagaha) के रामनगर प्रखंड में लगातार 48 घण्टों से हुई बारिश की वजह से मशान नदी(River Masaan) का पानी गांव में घुस गया है.

पश्चिमी चम्पारण(बगहा): रामनगर प्रखंड के जोगिया पंचायत अंतर्गत शेरवा गांव में लगातार 48 घण्टों से हुई बारिश की वजह से मसान नदी का पानी घुस गया. हालांकि बारिश बन्द होने के बाद पहाड़ी नदी मसान का जलस्तर थोड़ा कम हुआ है. लिहाजा गांव से पानी निकलने लगा है. लेकिन ग्रामीण भविष्य में बाढ़ और कटाव से चिंतित होने लगे हैं.

मशान नदी का तटबंध का हाल

गांव में घुसा बाढ़ का पानी
रामनगर प्रखंड के जोगिया पंचायत अंतर्गत शेरवा गांव में मसान नदी अभी से तबाही मचाने लगी है. लगातार 48 घण्टों से हुई बारिश की वजह से मशान नदी का पानी शेरवा गांव में घुस गया. जिससे आम जनजीवन काफी प्रभावित हुआ है. हालांकि बारिश बन्द होने के बाद पहाड़ी मसान नदी का जलस्तर थोड़ा कम हुआ है. लिहाजा गांव से पानी निकलने लगा है. लेकिन ग्रामीण भविष्य में बाढ़ और कटाव से चिंतित होने लगे हैं.

पिछले बरसात में भी ग्रामीणों को हुई थी परेशानी
पिछले बरसात में भी इस गांव में मसान नदी का पानी घुस गया था. प्रशासन ने मसान नदी किनारे कटावरोधी कार्य कराया था लेकिन पिछले बार की बाढ़ में बांध भी टूट गया नतीजतन कई गांव के लोग बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित हुए थे. हालात ऐसे हो गए थे कि एक गर्भवती महिला को खटिया पर लादकर अस्पताल पहुंचाया गया था, जिसमें प्रसव के दौरान बच्चे की जान चली गई थी.

बाढ़ कटाव की आशंका से डरे सहमे लोग
ग्रामीणों का कहना है कि अब से एक पखवारा बाद मॉनसून दस्तक दे देगा जबकि अभी पहली ही बरसात में कई गांवों का सम्पर्क टूट गया है. वहीं प्रशासन ने बाढ़ पूर्व किसी तरह का कटाव रोधी कार्य शुरू नहीं किया है. ऐसे में ग्रामीणों ने डीएम से लेकर मुख्यमंत्री तक त्राहिमाम सन्देश भेज मदद मांगी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.