Blog

योगी ने मोदी को महान नहीं बनने दिया ?

मोदी योगी को हटाकर महान बन जाना चाहते थे..लेकिन योगी ने मोदी को महान होने से रोक दिया..दोस्तों आपको याद है..कोरोना के समय बंगाल चुनाव चल रहे थे..अप्रैल के आखिरी हफ्ते के कुछ दिन पहले से कोरोना की दूसरी लहर तेजी से फैलने लगी थी..हम जैसे पत्रकारों का गला सरकार को अलर्ट करते करते सूख गया था..ये वही दिन थे जब मोदी बंगाल में कहते थे उनको भीड़ देखकर मजा आ रहा है..

मोदी जी का मजा भारत देश के लिए सजा बन गया..मोदी जी अपनी संपूर्ण सरकार के साथ बंगाल में व्यस्त रहे और देश कोरोना की दूसरी लहर के आगे परास्त हो गया..लाखों लोग मर गये..देश बर्बादी की कगार पर पहुंच गया..मोदी की दादा जी वाली छवि छिन्न भिन्न हो गई..लोगों ने सवाल पूछना शुरू किया कि जब कोरोना इतना फैल गया है..तो मोदी को प्रचार के आगे कुछ दिखाई क्यों नहीं देता..कुछ लोगों की आंखों से भक्ति की पट्टी भी हटी..जब श्मसान जल रहे थे..तो दुखी लोगों ने मोदी की छवि विलेन के तौर पर बना ली..

मोदी का नाम महानता की सूची से हटने लगा..और आखिर तक दुनिया और देश के लिए मोदी महान नहीं रह गए..कुछ लोगों ने पोस्टर लगाकर पूछ लिया कि मोदी जी हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेज दिया..तो बुरा लग या उनको पकड़वा लिया..दुनिया ने देखा कि अपने ही लोगों को विश्वगुरू बनाने का सपना दिखाने वाले उनके नेताओं के पास ऑक्सीजन तक का स्टॉक नहीं था..जबकि भारत की संसदीय कमेटी ने एक साल पहले ही ऑक्सीजन का अलर्ट जारी किया था..लेकिन मोदी जी की सरकार एक साल तक सोती रही…

दोस्तों कोरोना से पहले तक मोदी महान थे..कोरोना के बाद सामन्य इंसान हो गए..जब देश ऑक्सीजन के लिए लाइनों में खड़ा था मोदी जी गायब थे..तो दोस्तों अब मोदी को दोबारा महान बनाने के लिए..उनके बराबरी के किसी इंसान को कोरोना की नाकामी का जिम्मेदार बताना था..मोदी महान तभी रह सकते हैं ना जब किसी को बेईमान साबित कर दिया जाए..किसी को बचाने के लिए किसी को तो विलेन बनाना पड़ेगा..कोई बड़ा पेड़ गिराना पड़ेगा..

छोटे मोटे पेड़ से काम चलता नहीं..बड़ा पेड़ गिराकर बड़ी धमक से कोरोना से मची चीखपुकार को कम किया जा सकता था..योगी बड़ा पेड़ थे..दिल्ली के लिए चुनौती भी थे..योगी को यूपी में कोरोना के आगे नाकाम मुख्यमंत्री बताया गया..योगी को पंचायत चुनाव हारने का जिम्मेदार बताया गया..इनसे इनके ही विधायक खुश नहीं हैं..ये भी बताया गया..दिल्ली से बीएल संतोष को भेजकर रिपोर्ट बनवाई गई..राधामोहन राज्यपाल से मिल आए..

योगी पर दबाव बनाना शुरु हो गया..योगी को हटाते ही केंद्र सरकार के सारे कोरोना पाप कट जाते..मोदी जी ये कह सकते थे..कि हमने कोरोना को बहुत रोका जिन राज्यों में कोरोना की रोकथाम नहीं हो पाई..संगठन ने वहां सख्ती से काम किया है..और फिर एके शर्मा मौर्या..जैसे लोगों की महत्यवाकांक्षाएं भी पूरी हो जातीं..मोदी चुनावों में महान बने रहते..लेकिन योगी ने मोदी को महान होने से रोक दिया..

दोस्तों मेरे हिसाब से राजनीतिक में योगी को हटाने के पीछे एक दांव ये भी हो सकता है..आप क्या सोचते हैं कमेंट करके बताईये..दोस्तों TWITTER पर मुझे फॉलो जरूर कीजिए..मेरी ट्विटर ID है @Newspmh चलते हैं राम राम दुआ सलाम जय हिंद..

डिस्क्लेमर- लेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. भाषा में व्यंग्य है. लेखक का मक्सद किसी पार्टी किसी व्यक्ति किसी सरकार किसी धर्म जाति किसी मानव किसी जीव या फिर किसी संवैधानिक पद का अपमान करना या उनके सम्मान को छति पहुंचाने का नहीं है.. इसलिए व्य्ग्य को व्यंग्य की तरह लें..लेख में सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. भाषा में स्थानीय या यूपी की रीजनल भाषा को सरल करके प्रस्तुत किया गया है. समझाने के लिए बात घुमाकर कही गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.