(69000 Shikshak Bharti) दोस्तों यूपी की बीजेपी (BJP) सरकार आखिरी 6 महीनों में चल रही है..यूपी से लेकर दिल्ली तक 4 लाख रोजगार देने की होल्डिंग लगाकर डंका पीट दिया गया है कि हमने बहुत रोजगार दिए हैं..हम ही हैं रोजगार देने वाले सबसे बड़े राजा..हमसे बड़ा रोजगार देने वाला कभी पैदा नहीं हुआ..लेकिन असलियत क्या है..असलियत ये है कि लखनऊ में पिछले 1 महीने से पढ़े लिखे शिक्षक..परीक्षा दे चुके बेरोजगार शिक्षक नौकरी मांग रहे हैं..उनको पुलिस पीट रही है..मार रही है..भगा रही है दुत्कार रही है..

लखनऊ में बेरोजगार शिक्षकों की हालत कुत्तों से बदतर हो चुकी है..बेरोजगार शिक्षक गोमदी में कूद रहे हैं..लेकिन यूपी की बीजेपी (BJP) सरकार इसी बात से गलगल है कि उसने 4 लाख रोजगार दे दिए हैं..चार लाख रोजगारों में उन लोगों को भी गिन डाला है जो कोई मुर्गी पालन कर रहा है..कोई दरदोजी कर रहा है..भाई साहब गिनती तो ऐसे कर ली है कि इनकी सरकार (BJP) के भीतर कोई पंचर बना रहा है..और वो उनकी सरकार होते हुए भी पंचर बनाने में कामयाब है तो उनकी भी गिनती 4 लाख रोजगार में कर ली है…

पिछले 1 महीने से बेरोजगार शिक्षक धरना दे रहे हैं..लेकिन बीजेपी (BJP) सरकार कान में रूई लगाकर सो रही है..69000 शिक्षक भर्ती मामले को लेकर समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदेरिया ने कहा..नौकरी मांगने वाले नौजवान की पीठ को पायदान बना देने वालों ये जुल्म याद रखा जाएगा.. याद रखा जाएगा कि किस तरह से महिलाओं और पुरुष अभ्यर्थियों को इसलिए पीटा गया था,क्योंकि वो नौकरी मांग रहे थे.

पत्रकार ब्रजेश मिश्रा ने कहा टीचर भर्ती की मांग कर रहे नौजवानो को पीटना। उन पर थप्पड़ बरसाना। लाठी-लाठी मारना। अपमानित करना। ये तरीका अन्यायपूर्ण है। अपने हक़ की आवाज़ उठाने का अख्तियार है इन्हे। सरकार को चुना है इन्होने। अपने हक़ की बात कहने आये है। इनकी बात सुनिए। ये लाठी, डंडा और थप्पड़ से रुकने वाले नहीं..

दोस्तों यूपी में रोजगार और नौकरी देने में हाथी के दांत खाने के कुछ और हैं और दिखाने के कुछ और हैं..मोदी जी (BJP) 2 करोड़ रोजगार हर साल देने वाले थे..7 साल हो गए हैं..14 करोड़ रोजगार मिलने चाहिए थे..योगी जी 5 साल में 4 लाख रोजगार में ही खुश हैं..और बेरोजगार नदियों में कूदे जा रहे हैं..

By Taniya Chauhan

सच्चाई जिसे आप देखना चाहते है