बीजेपी (BJP) की मंत्री रीता बहुगुणा जोशी बेकार में हैरान परेशान हो रही हैं..घर जलाने वाले बबलू को विश्वकर्मा मानकर स्वागत करना चाहिए…अरे घर में आग तो भगवान हनुमान जी ने भी लगाई थी..लेकिन वो घर लंका थी..रीता बहुगुणा जोशी ना अपने घर को लंका मानने को तैयार हैं ना ही बबलू को श्रीराम के नाम के सहारे चलने वाली बीजेपी (BJP) का हनुमान..बीजेपी के पास..पाप धोने की मशीन है..रीता जी कांग्रेस से बीजेपी में गईं..बीजेपी में मंत्री भी बन गईं..और मंत्री बनाकर बीजेपी ने बर्फ में भी लगा दिया लेकिन रीता जी को पाप धोने वाली मशीन के बारे में मालूम ही नहीं चला..अरे सही बता रहे हैं..घर जलाने वाले को कमल थामे देख बीजेपी की मंत्री रीता जी अब शॉक में हैं..

जब से रीता जी का घर जलाने वाला बीएसपी का पूर्व विधायक पाप धोने की वॉशिंगमशीन से निकलकर बीजेपी (BJP) का पट्टा पहनकर रीता जी के सामने आया है..तब से रीता बहुगुणा जोशी हैरान हैं..बोलीं ये तो पापी है..इसने मेरा घर जलाने का पाप किया है..और इस आदमी को बीजेपी ने पार्टी में क्यों लिया..मेरे अध्यक्ष लोगों से गलती हो गई है..

घर जलाने की कहानी जिनको नहीं मालूम उनके लिए बता देती हूं..साल 2009 था..शाम का वक्त था..चुनाव प्रचार चल रहा था..रीता बहुगुणा जोशी तब कांग्रेस की यूपी प्रदेश अध्यक्ष हुआ करती थीं..यूपी में एक बच्ची के साथ बलात्कार हुआ था मायावती यूपी की फुल बहुमत से मुख्यमंत्री थीं..बलात्कार पीड़ित बच्ची के घर वालों को मायावती ने बलात्कार के बदले मुआवजा दिया था..रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि अगर मायावती का कोई…बीप बीप बीप..करे तो मैं भी पैसे देने के लिए तैयार हूं..मुआवजा बलात्कार की भरपाई नहीं हो सकता..इसी बात को लेकर तब के बसपा विधायक जितेंद्र कुमार उर्फ बबलू ने रीता बहुगुणा जाोशी का लखनऊ वाला घर जला दिया..बबलू तो गुमान में थे कि मायावती मुख्यमंत्री हैं..उनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता..मायावती के सम्मान मे घर जलाया है तो ईनाम मिलेगा लेकिन भईया गुरूर तो बड़े बड़े बादशाहों का नहीं टिका..

अब बबलू को बीजेपी (BJP) ने संत मानकर अपनी ही मंत्री का घर जलाने वाले को पार्टी में शामिल कर लिया है..इस पर रीताबहुगुणा जोशी आहत हैं..जिसने उनका घर फूंका बीजेपी ने उसको ही रीता के सामने लाकर खड़ा कर दिया..बेटी बचाव वाली पार्टी ने बेटी का घर जलाने वाले को नूर मान लिया है.

केवल बबलू ही क्यों योगी जी पर खुद मुकदमे थे..उन्होंने मुख्यमंत्री बनने के बाद हटावा लिए..डिप्टी सीएम ने भी अपने मुकदमे हटवा लिए..2017 में चुने गए बीजेपी (BJP) के विधायको में 114 विधायकों पर मुकदमे चल रहे हैं..मतलब दागी हैं..कहें तो 37 फीसदी बीजेपी (BJP) विधायक दागी हैं..लेकिन जो सत्ता में होता है साफ सुथरा होता है…यही हाल बीजेपी का संसद में भी है बीजेपी के 339 सांसदों में से 107 के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. जिनमें से 64 के खिलाफ संगीन आपराधिक मामले दर्ज हैं. हत्या लूट डकैती बलात्कार के भी मुकदमे भी दर्ज थे..मुझे ट्विटर पर फॉलो जरूर कीजिए..@Newspmh नाम से खोजिए..साथ जुड़िए..दोस्तों चलते हैं राम राम दुआ सलाम जय हिंद..

Disclamer- उपर्योक्त लेख लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार द्वारा लिखा गया है. लेख में सुचनाओं के साथ उनके निजी विचारों का भी मिश्रण है. सूचना वरिष्ठ पत्रकार के द्वारा लिखी गई है. जिसको ज्यों का त्यों प्रस्तुत किया गया है. लेक में विचार और विचारधारा लेखक की अपनी है. लेख का मक्सद किसी व्यक्ति धर्म जाति संप्रदाय या दल को ठेस पहुंचाने का नहीं है. लेख में प्रस्तुत राय और नजरिया लेखक का अपना है.

By Taniya Chauhan

सच्चाई जिसे आप देखना चाहते है