Mehul Choksi ने अपना नाम बताया ‘राज’, गिफ्ट किए नकली हीरे; गर्लफ्रेंड ने खोले कई राज

मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) की ‘मिस्ट्री गर्ल’ बारबरा जराबिका (Barbara Jarabica) सामने आई है. उसने चोकसी के बारे में कई खुलासे किए हैं.

नई दिल्ली: भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) केस में जिस ‘मिस्ट्री गर्ल’ बारबरा जराबिका (Barbara Jarabica) की बार-बार चर्चा की जा रही उसे हमारे सहयोगी चैनल WION ने ढूंढ़ निकाला है. WION से खास बातचीत में बारबरा जराबिका ने दावा किया है, जिस दिन मेहुल चोकसी लापता हुआ था उस दिन वो एंटीगुआ में नहीं थी. 

राज नाम बताकर मिला था चोकसी

मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) की कथित गर्ल फ्रेंड  बारबरा जराबिका (Barbara Jarabica) ने चोकसी के साथ अपने संबंधों की जानकारी देते हुए कहा, ‘वह (चोकसी) मुझे पसंद करता था लेकिन इसे गुप्त रखा.’ चोकसी ने जराबिका को अपना नाम राज बताया था. जराबिका का दावा है कि उसे चोकसी के अतीत के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. उसने एक हीरा उपहार में दिया जो नकली था और बहुत झूठ बोला था. 

अपहरण का आरोप किया खारिज

बारबरा जराबिका ने बताया कि उसकी और चोकसी की पहली मुलाकात पिछले साल अगस्त में हुई थी. साथ ही उसने अपहरण के आरोपों को सिरे से खारिज किया है. कहा है कि दिन के समय अपहरण का कोई सवाल ही नहीं उठता. मुलाकात कैसे हुई, इस बारे में बताते हुए बारबरा ने कहा, वह प्रोपर्टी कंसल्टेंट के तौर पर काम करती है. बीते दो वर्षों से वह एंटीगुआ में थी इसी दौरान उसकी मुलाकात मेहुल से हुई. जब मुलाकात हुई तब ज्यादातर स्टाफ मेहुल को राज कह कर ही बुला रहा था.

चोकसी ने लगाया है ये आरोप

बता दें, मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) ने एंटीगुआ के पुलिस कमिश्नर को चिट्ठी लिख बारबरा जराबिका समेत 5 लोगों पर खुद को अगवा कर डोमिनिका (Dominica) लाने का आरोप लगाया है. चिट्ठी में मेहुल चोकसी ने कहा कि वो बारबरा को पहले से जानता था क्योंकि वो उसके घर के पास ही रहती थी. शाम की सैर के दौरान वे अक्सर मिलते रहते थे. 

‘बारबरा ने घर से कराया अपहरण’
चोकसी (Mehul Choksi) ने आरोप लगाया कि 23 मई को बारबरा ने उसे अपने घर बुलाया ताकि दोनों साथ चल सकें. जब मेहुल चोकसी बारबरा के घर 5 बजे पहुंचा तो वो वाइन पी रही थी. उसने कहा कि कुछ ही मिनट में चलेंगे. तभी 8-10 पहलवान जैसे लोग बारबरा के घर में घुसे और मुझे उठा कर ले जाने लगे. उन्होंने खुद को एंटीगुआ का पुलिसकर्मी बताया और कहा कि सेंट जॉन पुलिस स्टेशन ले जा रहे हैं. 

‘लगातार लगाई पिटाई’
मेहुल चोकसी ने आरोप लगाया, ‘उन्हें मेरे बारे में सब जानकारी थी कि मैं कहां रहता हूं, क्या करता हूं. वे पिछले काफी समय से मुझ पर नजर रखे हुए थे. मैंने जब अपने वकील से बात करने की कोशिश की तो उसे भी मना कर दिया गया. वो सभी मुझे लगातार पीट रहे थे और टीजर का भी इस्तेमाल किया. जिसकी वजह से मेरे शरीर पर काफी चोटें आईं. उन्होनें मेरी घड़ी, पैसे, फोन छीन लिये और व्हीलचेयर पर बैठाकर बांध दिया. मेरे मुंह में कपड़ा ठूंस दिया गया और चेहरा ढ़क दिया ताकि मैं कुछ देख बोल ना सकूं.’

Leave a Reply

Your email address will not be published.