West Bengal: एनकाउंटर में मारे गए लाखों के इनामी 2 कुख्यात अपराधी, Punjab में दो ASI की हत्या कर थे फरार

गैंगस्टर जसप्रीत और जयपाल भुल्लर कितने खतरनाक थे, इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि कोलकाता में एनकाउंटर (Kolkata Encounter) के बाद बदमाशों के पास से 5 पिस्तौल, 89 कारतूस और 7 कैश भी बरामद हुआ.

कोलकाता: पंजाब के दो इनामी मोस्टवॉन्टेड इनामी गैंगस्टर (Most Wanted Gangster) को पश्चिम बंगाल एसटीएफ (West Bengal STF) ने बुधवार को कोलकाता में मार गिराया. गैंगस्टर जसप्रीत और जयपाल भुल्लर पंजाब में दो असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर की हत्या करके फरार हुए थे.

लाखों के इनामी अपराधियों का हुआ एनकाउंटर

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में हुए एनकाउंटर में पंजाब के दो नामी गैंगस्टर मारे गए. गैंगस्टर जसप्रीत और जयपाल भुल्लर पर 10 लाख और 5 लाख रुपये का इनाम था. पंजाब पुलिस से दोनों के कोलकाता में मौजूदगी की खबर मिलने के बाद ज्वाइंट ऑपरेशन किया गया.

गैंगस्टर्स पर 50 से ज्यादा मामले दर्ज

लुधियाना जिले के जगराओं की नई अनाज मंडी में 15 मई को ASI भगवान सिंह और दलविंदरजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, जिसका आरोप गैंगस्टर जसप्रीत और जयपाल भुल्लर पर था. इन दोनों पर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली  में 50 से ज्यादा मामले दर्ज हैं.

कैसे हुआ कोलकाता में छिपने का खुलासा?

दरअसल, 28 मई को जयपाल भुल्लर के साथी बलविंदर सिंह उर्फ बब्बी और दर्शन सिंह को मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले के डबरा रेलवे स्टेशन से पुलिस ने धर दबोचा था. दोनों महाराष्ट्र भगाने की फिराक में थे. पंजाब पुलिस ने बलजिंदर और दर्शन को ग्वालियर में पनाह देने वाले हरचरण सिंह को भी गिरफ्तार किया था. खबरों के बलजिंदर और दर्शन से हुई गहन पूछताछ में एसआईटी के हाथ यह सुराग लगे थे कि जयपाल और जस्सी कोलकाता भाग गए हैं. इसके बाद कोलकाता में अपराधियों की खोजबीन शुरू हुई.

कई राज्यों में छानबीन के बाद मिली सफलता

चंड़ीगढ़ के डीजीपी अनमोल गुलाटी ने कहा, ‘इस मामले में पहली सफलता 28 मई को मिली. ग्वालियर के पास चार लोग पकड़े गए, जिनमें से दो 15 मई वाले वाकया में शामिल थे. इन सब इनपुट को फॉलो करते हुए हम काफी राज्यों की छानबीन कर रहे थे. सीसीटीवी की मदद से एक काली Honda Accord पर शक हुआ और उसकी जानकारी इकट्ठा की गई. Accord के मालिक का पता लगाया गया, जो कि बंगाल का था.’

एक सोसाइटी में छिपे से दोनों अपराधी

खोजबीन में अपराधियों के एक सोसाइटी में छिपे होने की खबर लगी. इसके बाद कोलकाता एसटीएफ ने पूरी सोसायटी को घेरकर अपराधियों को पकड़ने की कोशिश की. जब पुलिस ने अपराधियों को सरेंडर करने को कहा तो उसने गोली चला दी, इसके बाद पुलिस की फायरिंग में दोनों अपराधी मारे गए जबकि एक पुलिस वाला घायल हो गया. 

बरामद हुआ हथियारों का जखीरा

दोनों अपराधी कितने खतरनाक थे, इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि बदमाशों के पास से 5 पिस्तौल, 89 कारतूस और 7 कैश भी बरामद हुआ. हत्या, बैंक लूट सहित कई मामलों में जयपाल भुल्लर की पंजाब पुलिस को तलाश थी. ऐसे में इन दोनों अपराधियों को मारकर पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल की है. चंडीगढ़ के डीजीपी अनमोल गुलाटी ने बताया कि जयपाल भुल्लर ए कैटेगरी के 31 गैंगस्टर्स में शामिल था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.